HindiBhashi: हिन्दी में SEO और Digital Marketing की पूरी जानकारी

Blogging, SEO, Digital Marketing aur Social Media se related sampurn jankari hindi me jise sikhkar aap Online Work from home se Paise kamaa sakte hai

Krishna

Friday, April 10, 2020

SSL Website Security kya hai

SSL Website Security क्या है, SSL के फायदे, SSL कहाँ से खरीदें 

Need of SSL Blog/Website Security

जब हमारे सामने किसी नए technology की बात आती है और उसके फायदे गिनाए जाते है तो हम बड़े खुश होते है ये सोचकर कि इसको अपनाने से हमारा फलाना-फलाना काम आसान हो जाएगा, तत्काल हम ये भूल जाते है कि क्या इसका कोई विपरीत पहलू भी है।Blog, Blogger और Blogging का concept भी इसी internet technology का हिस्सा 

जब इंटरनेट का अविष्कार नया-नया हुआ था और लोगों के बीच ये popular होने लगा शायद किसी ने नहीं सोचा होगा कि इसके फायदे इतने है तो क्या आने वाले समय में कोई नुकसान भी होगा। लेकिन ये होना था और हो रहा है।

ज्यादा दिन नहीं हुआ, जरा याद करें उन दिनों को जब बैंक में पैसे निकालने के लिए घंटो लाइन में लगते थे, जब जरूरत पड़ने पर किसी दोस्त या रिस्तेदार से पैसे उधार लेते थे। अचानक आपके Bank ने आपको एक दिन ATM card पकड़ा दिया, लाइन लगने का झंझट खत्म। किसी बैंक ने आपको credit card के फायदे गिनबाए, आपने हाँ कहाँ और credit कार्ड आपके घर पर आ गया, अब आपका किसी और से उधार मांगने का झंझट खत्म।

Blog में अच्छे Page Ranking के लिए जाने 

SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे, Step by Step Guide 

Back Link क्या है Traffic और SEO में कैसे लाभदायक है

उस दिन कितना खुस हुए थे आप? शायद याद होगा? कुछ दिन के बाद शायद आपके साथ भी हुआ होगा कि आप घर में बैठे हुए है card आपके pocket में है और आपके ATM या  credit card से पैसा निकाल गया, सारी खुशी हवा- हवाई हो गयी। 

मैं आपको यहाँ ATM या credit card का नुकसान नहीं बता रहा हूँ बल्कि ये बताना चाहता हूँ कि जब कोई नई technology आती है तो उसके फायदे असामाजिक तत्व भी उठाते है और इसके लिए जरूरी है  कि हम इससे बचने का उपाय भी जान ले या व्यवस्था कर ले।

ब्लॉग की सुरक्षा से पहले मुझे आशा है आपने ये जान लिया होगा कि ब्लॉग बनाते कैसे है। जब ब्लॉग बनाने कि बात आती है तो शुरू में पैसा खर्च करने से बेहतर है ये जाने कि Blogger Blogspot पर फ्री में ब्लॉग कैसे बनाये

इसी व्यवस्था में से एक है अपने website को इन चोर-उचक्कों जिसको internet कि भाषा में hacker कहते है, से बचाना जिसको SSL कहते है। 

SSL या Website Security क्या है 

SSL जिसका full form होता है Secure Sockets Layer. यह एक encryption protocol है जो internet पर अपने website या blog को hacker से बचाता है। जब कभी आप किसी website को खोलते है तो ये आपके browser और website के बीच secure कनैक्शन स्थापित करता है और secure करता है कि आपके द्वारा website के साथ share किया गया कोई भी data जैसे- कोई pasword, bank, credit card detail सुरकक्षित है। 

SSL के फायदे क्या है 

आपने Digital India के बारे में सुना होगा। यह भारत सरकार का program है। इसके अंतर्गत सरकार लोंगों को internet के माध्यम से सारा काम करने के लिए प्रोत्साहित करती है ताकि लोग paper का कम से कम इस्तेमाल करें। कहने का तात्पर्य है हम जो कोई बैंकिंग transaction करते है, अपना कोई डाटा store करते है अथवा कोई ख़रीदारी करते है सब  के सब डिजिटल रूप में करे। 

मान लीजिये हमने को online सामान खरीदा और उसका payment online कर दिया, यही वो वक्त है जब hackers नजरें लगाए आपके account कि तरफ देखते रहते है, जैसे ही मौका मिला आपके अकाउंट से पैसे गायब। 

मान लीजिये आपका कोई अपना blog या website है जो काफी famous है, एक दिन किसी hacker ने password तोड़कर आपके वैबसाइट को अपने कब्जे में ले लिया, फिर आपसे पैसे मांगने लगे। आप क्या करेंगे? ये ऐसे ही हुआ कि आप रात में अपने घर में सो रहे है और किसी ने आपका भैस खोल लिया, सुबह होने पर कहता है पैसे दो फिर भैस दूंगा। 

एक जमाना था जब चोर को चोरी करने के लिए आपके घर तक आकर ताला तोड़ना होता था, वो जमाना बीत गया। आज के जमाने के चोर हमसे ज्यादा high tech हो गए है। वो अपने घर में बैठे-बैठे एक laptop और internet कि सहायता से आपका बैंक अकाउंट खाली कर देते है। इन्ही चोरो से SSL certificate हमारी रक्षा करता है। 

SEO में SSL Certificate के फायदे 

जब हम blog के SEO कि बात करते है तो पहले ये जानना जरूरी है कि 
On-Site SEO क्या है । किसी ब्लॉग के SEO के बहुत सारे factors      होते   है।  जब search engine का crawler आपके website तक पहुँच बनाता है और वो देखता है कि आपके website में SSL certificate नहीं लगा है तो आपके वैबसाइट को इग्नोर करता है। अगर search होकर screen पर आ भी गया, visitor जैसे ही बिना SSL Certificate वाली website को click करता है जो भी browser Crome या Mozila जो आप use करते है एक संदेश देता है कि ये site सुरक्षित नहीं है। अब इस परिस्थिति में कौन visitor ऐसे साइट को खोलना चाहेगा।


SSL Certificate कितने प्रकार के होते हैं 

SSL Certificate के प्रकार 

  • Extended Validation Certificate (EV SSL)
  • Organization Validated Certificate (OV SSL)
  • Domain Validated Certificate (DV SSL)
  • Wildcard SSL Certificate 
  • Multi-Domain SSL Certificate (MDC)
  • Unified Communication Certificate (UCC)

1. Extended Validation Certificate (EV SSL)

इसकी ranking काफी high और ये महंगी भी होती है, यही कारण है कि इसका उपयोग बड़ी-बड़ी कंपनी या वो वैबसाइट जिसपे पैसे का लेन-देन होता है करती है, जैसे online सामान बेचने वाली company या bank वगैरह। इसकी पहचान ये है कि इसके padlock में कंपनी कि सारी details होती है और country code green दिखाई देता है। इसको लेने के लिए एक कानूनी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। 

Extended Validation Certificates EV SSL उदाहरण

 

2. Organization Validated Certificate 

 इसका भी हिसाब ज़्यादातर ऊपर वर्णित certificate की तरह ही है बस थोड़ा सा price मेन फर्क होता है। Online समान बेचने वाली company मुख्य रूप से इसको अपनाती है । 


OV SSL Certificate उदाहरण

 

3. Domain Validated Certificate (DV Certificate)

ज़्यादातर blogger और छोटे-मोटे website चलाने वालों के लिए ये मनपसंद है। सस्ता है और बेसिक सुरक्षा मिल जाती है। इसको लेने के लिए किसी कानूनी कारवाई की जरूरत नहीं पड़ती। इसको लेने के बाद आपके address बार में http की जगह https और एक padlock दिखाई देगा। 

4. Wildcard SSL Certificate

जब एक domain के saath कई subdomain होते है ऐसी स्थिति में अलग-अलग certificate से सस्ता पड़ता है wildcard ssl. इसमें भी दो option है - OV Wildcard SSL और DV Wildcard SSL. दोनों में से किसी एक का चुनाव कर सकते है। 


Wildcard SSL Certificate उदाहरण

 

5. Multi-Domain SSL Certificate 

जैसा नाम से ही पता चलता है इस तरह के SSL Certificate ऐसे company खरीदती है जिनके पास बहुत ज्यादा मात्र में domain और subdomain register होते है। इससे उनको ये फायदा होता है कि single control से company का detail edit कर सकते है। नीचे दिये उदाहरण से समझ सकते है कि किस type कि company इसका इस्तेमाल करती है-

  • www.domain.com
  • www.domain.in
  • www.domain.org
  • domain.com
  • checkout.domain.com
  • mail.domain.com


Multi-Domain SSL Certificate उदाहरण



6. Unified Communications Certificate 

UCC भी Multi- Domain के लिए प्रयोग होता है। शुरुआत में ये Microsoft Exchange और Live Communications Servers के लिए design किया गया था। आज के समय में कोई भी कंपनी इसका प्रयोग कर सकती है। UCC को EV Certificate कि तरह प्रयोग करके website को ज्यादा secure होने का संदेश दिया जा सकता है । 

Unified Communications Certificate SSL उदाहरण


SSL Certificate कहाँ से खरीदें 

अगर आपका Website या Blog Blogger Blogspot पर है तो आपको SSL Certificate लेने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि google ये सुविधा आपको free में देता है।

अगर आपका website या blog self hosted यानि Wordpress पर है फिर आप जिस company से web hosting खरीदते है वो आपको SSL certificate देती है बदले में पैसे लेती है। 

इसके अलावा आप चाहते है कि हम SSL Certificate Web hosting कंपनी से न लेकर अलग से खरीदे तो कई कंपनी इस क्षेत्र में कार्यरत है जो फ्री में या पैसे लेकर आपको ये सेवा देती है। जल्द ही अगले post में मैं बताऊंगा SSL Certificate free और paid कैसे पाएँ। 

सारांश 

SSL Certificate Website/Blog कि सुरक्षा के लिए बहुत ही अहम है। इसको लगाने से आपके website कि विश्वसनीयता बढ़ती है, SEO में सहायक है और visitor को आपका website खोलने में कोई खतरा नहीं दिखता। 

अगर आपको लगता है पोस्ट पढ़ने से आपको कुछ फायदा हुआ तो एक कमेंट जरूर करें और share करे, अगर लगता है कुछ कमी है तो अवश्य मार्गदर्शन करे।



2 comments: