HindiBhashi: हिन्दी में SEO और Digital Marketing की पूरी जानकारी

Blogging, SEO, Digital Marketing aur Social Media se related sampurn jankari hindi me jise sikhkar aap Online Work from home se Paise kamaa sakte hai

Krishna

Wednesday, March 18, 2020

How To Write an Seo Friendly Anchor Text In Hindi

Anchor Text क्या है और SEO के लिए क्यों जरूरी है 

Anchor text in blog post

इससे पहले की हम बात करें how to write a seo friendly anchor text, मैं चर्चा करना चाहूँगा अपने practical life से जुड़े एक सामान्य व्यवहार के बारे में । 

अक्सर जब आप किसी बड़े माल या दुकान में कोई एक समान खरीदने जाते है, आपकी नजर कई वस्तुओं पर पड़ती है या दुकानदार आपको कई और तरह के समान भी दिखा देता है। दुकान तो गए थे आप एक समान खरीदने, लेकिन होता क्या है ? आप एकाध समान और भी खरीद लेते है जो आप खरीदने नहीं आए थे, जिसकी आपको फिलहाल जरूरत नहीं थी अथवा जिसके बारे में पता नहीं था। 

Single Niche Blogging क्या है

SEO Friendly Blog Post कैसे लिखें

अब मुख्य विषय पर आते है। जैसे - जैसे आप blogging के गहराई में जाते है आपके सामने नए - नए शब्द की उत्पति होती जाती है और उसी में से एक शब्द आता है Anchor Text. फिर आप सोचने लाग्ने हैं Anchor Text क्या है? 

शब्द आपके लिए नया है लेकिन किसी भी कीमत पर इसके अहमियत को कम न आकें, क्योंकि SEO का ये एक अहम हिस्सा है। जैसा की आप जानते है जब हम अपने ब्लॉग पर कोई नया post लिखते है तो पोस्ट को rank करबाने के लिए हम SEO (Search Engine Optimization ) करते है। SEO को हम दो भाग में बाटते है। On-Page SEO और Off-Page SEO

On-Page SEO हम पोस्ट लिखने के साथ-साथ करते जाते है, उसी SEO का एक हिस्सा है Anchor Text.  

इस पोस्ट में हम जिन बिन्दुओं पर चर्चा करेंगे :

  • Anchor Text क्या होता है 
  • Anchor Text के प्रकार 
  • SEO में Anchor Text के फायदे 
  • Anchor Text और Google Penalties  
  • Internal Links में Anchor Text एक best practice  

 Anchor Text क्या है 

Anchor Text क्या है

मोटे तौर पर समझे तो ये लिंक है जो आपको किसी पोस्ट को पढ़ते समय पेज के ऊपर जगह-जगह highlighted मिलेंगे, जिसके ऊपर cursor ले जाने पर हाथ का निसान बनता है। इसके ऊपर click करने पर आप दूसरे पेज अथवा दूसरे वैबसाइट पर चले जाते है। 

नीचे के image में box के अंदर जो लिखा दिख रहा है वो भी एक anchor text ही है।

Google Search में anchor text

अब मै यहाँ आपको पोस्ट पहला paragraph याद दिलबाना चाहूँगा जिसमें मैंने दुकान से ख़रीदारी संबन्धित चर्चा की थी। ये Anchor text भी उस दुकानदार की तरह है जो एक post से संबन्धित दूसरे पोस्ट को पढ़ने के लिए सूचना देता है, या बताता है। 

आप ब्लॉग पर एक post को पढ़ने के लिए आए थे लेकिन जैसे - जैसे आप पोस्ट को पढ़ते जाते है आपको कई Anchor टेस्ट मिलता है जिसको click कर आप दूसरे - तीसरे post को पढ़ते चले जाते है। जहां आप ब्लॉक पर 10 मिनट समय देने वाले थे वहीं आप आधा- एक घंटा बिताते है या दुबारा- तिबारा पढ़ने के लिए उस ब्लॉग पर आते है। 

Anchor text का क्या काम है 

Anchor Text search engine और reader दोनों को लिंक से संबन्धित विषय के बारे में बताता है । 

Anchor Text के रूप में जो hyperlink हमने डाला है उसपर click करने पर या तो आप किसी अन्य पेज पर जाते है या किसी अन्य site par. 

एक अर्थपूर्ण Anchor Text लिखने से search engine का crawler और readers दोनों को ये समझने में आसानी होती है कि ये किस विषय से संबन्धित है। 

Anchor Text कितने प्रकार (types) के होते है 

Anchor text कई प्रकार के होते है। समान्यतः इसका प्रयोग पेज मेन link बनाने के लिए किया जाता है। हम सब जानते है कि link building page रंकिंग के लिए अहम है। कई बार लिंक building न करने पर google आपके ब्लॉग को रंकिंग से बाहर भी कर देता है।

अगर आप SEO में नए है तो इसके एक-एक terminology को समझना जरूरी है। 

Anchor Text के प्रकार  

1.) Branded :- जब  हम किसी website या Blog का नाम ज्यों का त्यों Anchor Text के रूप में प्रयोग करते है तो उसे branded anchor टेक्स्ट कहते है, जैसे मेरे ब्लॉग का नाम hindibhashi है और किसी जगह link में hindi30 लिख दूँ। 
2.) Domain Name:- जब हम लिंक में किसी वैबसाइट का domain name लिखते है जैसे- मेरे ब्लॉग का नाम hindibhashi.in है।
3.) URL:- जब हम किसी link में में permalink का प्रयोग करते है यानि ब्लॉग के पूरा का पूरा address डालते है जैसे- https://www.blogspot.com 
4.) Generic:- ये शब्द आपने जरूर सुना होगा। बोलचाल कि भाषा में इसका अर्थ होता है साधारण। कई बार किसी पोस्ट को पढ़ते वक्त बीच-बीच में llink मिला होगा जहां लिखा होता है click here, read more इत्यादि। 

इस तरह के text reader को जानकारी मात्र देते है पेज ranking में इससे कोई फाइदा नहीं मिलता। 
5.) Exact Match Keywords:- जब हम किसी keyword को, जिसको लेकर कोई post लिखा गया है अथवा website address उसको as it is anchor text में प्रयोग करते है। 

मान लीजिये मेरे इसी website पर एक पोस्ट है Back Links क्या है मै इसको अक्षरशः उठाकर anchor text में दाल दूँ। 
6.) Partial Match Keywords:- जब हम keywords के कुछ हिस्से को लिंक में प्रयोग करते है जैसे - back links ki पूरी जानकारी। 

इस तरह के link हर तरह से फायदेमंद होते है। एक तो reader को स्पष्ट पता चलता है कि लिंक किस विषय से संबन्धित है है दूसरा search engine का crawler भी इसको ज्यादा महत्व देता है। 
7.) Page Title:- जब हम किसी दूसरे पेज का title as it is link के रूप में प्रोयोग करते है जैसे -  SSL क्या है
8.) Image Anchor Text :- जब हम लिंक के लिए किसी image का इस्तेमाल करते है। आपने कई बार देखा होगा पेज पर किसी इमेज पर क्लिक करते है तो आप किसी दूसरे पेज पर या किसी दूसरे साइट पर पाहुच जाते है। 

जब किसी पोस्ट में कोई image लगाया जाता है तो साथ में इमेज का description डालते है। इसी description के आधार पर crawler image को समझता है। इसके बिना इमेज लगाने का कोई फायदा नहीं होता। इस तरह का link भी page रंकिंग में फायदेमंद है। 

SEO में Anchor Text के फायदे 

जब से anchor text का विकाश हुआ है तभी से ये प्रचलन में है। हालांकि ज़्यादातर webmaster इसपर ज्यादा ज़ोर नहीं देते जिसका बुरा परिणाम उन्हें page ranking में मिलता है। 

अगर हम crawler के अनुकूल अच्छा anchor text internal और external links के लिए create करते है इसका कई तरह के फायदे हमे SEO में मिलता है।  
  • Internal Links में अनुकूल  anchor text search engine को site का page structure समझने में मदद करता है। 
  • Internal Links में एक अच्छा anchor text जो search terms के अनुकूल है page ranking में सहाता करता है। 
  • External Links अगर meaningful हो तो readers को ये समझने में आसानी होता है कि लिंक किस विषय पर है।


अर्थपूर्ण Text का चुनाव करें 

Meaningful शब्दों का चुनाव करे। लिखने से पहले खूब सोचें- विचार करें। साधारण (Generic) शब्दों जैसे- click here, और पढे, Read more आदि को चुनाव करने से बचे। 

ऐसे शब्दों से readers और search engine दोनों को ये समझ नहीं आता कि link किससे संबन्धित है। ऐसे भी text का चुनाव न करे जो विषय से संबन्धित नहीं है। 

Page URL जिसको Naked Anchor Text भी कहते है प्रयोग करने से बचे, इसका कोई फाइदा नहीं है और न ही ये best practive में आता है। इससे अच्छा है कि अगर जरूरत है तो page Title का प्रयोग कर सकते है। 

Anchor Text छोटा लिखे, दो-तीन शब्द से ज्यादा नहीं होना चाहिए। लंबा Text रहें पर search engine को समझने में समय लगता है, परिणाम स्वरूप आपका पोस्ट search engine में avoid होना शुरू हो जाएगा। 

Links में text का colour बाकीं text से अलग रखे ताकि readers को links को पहचान करने में आसानी हो। 

Anchor Text और Google Penalties 

अभी तक के विवरण से इतना तो सनझा चुके है कि Anchor Text SEO के लिए अहम factor है और ये page ranking में मुख्य role अदा करता है । लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि हम जहां-तहाँ कैसे भी links अपने पोस्ट पर डालते चले जाये। 

Anchor Text Guidelines

इस मामले में Google का strict guideline है जिसको follow करना नितांत आवश्यक है। Links create करते वक्त हमें कुछ बातों का जरूर ध्यान रखना चाहिए। जैसे :

  • किसी को आप पैसे के बदले लिंक्स बेच नहीं रहे है। 
  • Links आपके post से संबंद्धित site को ही दे अथवा अपने site पर अपने विषय से संबन्धित लिंक्स का ही प्रयोग करे। 
  • Links में as it is keywords का प्रयोग न करें 
  • Links proper exchange नहीं होना चाहिए, कहने का मतलब है search engine links को votes for trust देखता है, इस परिस्थिति में मै एक देता हूँ, बदले में तुम एक दो ये गलत है। 

आपके द्वारा create किया गया links पूरी तरह natural होना चाहिए। इन सब बातों को links डालते वक्त अगर ignore करते है तो Google sites को penalties कर देता है और ऐसे links को भी वैल्यू नहीं देता है। 

Link में इन बातों का रखे खयाल  

अलग-अलग तरह के Anchor Text का प्रयोग करे, exact keywords का प्रयोग करने से बचे 

Links create करने के बाद अंत में एकबार सबको review जरूर करे ताकि पता चले कि आप guideline को follow कर रहे है या नहीं।

Low quality link creates करने से बचे। links उसी sites से create करे जिसका Domain Authority अच्छा हो । 


Internal Links में Anchor Text एक best practice

बात जब Internal links कि आती है फिर Google guideline का कोई मायने नहीं रह जाता। 

जैसा आप जानते होंगे internal links एक ही site के अंदर एक post से दूसरे पोस्ट के बीच होता है। आपका site है, आपकी मर्जी है, जैसे चाहे link दाल लें। Google कोई penalty नहीं लगाएगा। 



निष्कर्ष 

इस post को पढ़ने के बाद आप ये तो समझ गये होंगे, Anchor text क्या है और how to write an SEO friendly anchor text. 
Anchor Text किसी भी sites का SEO के लिए बहुत ही आवश्यक है। इससे readers और search engine को अलग-अलग पोस्ट और dusre sites का पता चलता है। 

External Links create करते वक्त Google guidelines का ध्यान रखना चाहिए, जबकि Internal Links के लिए ऐसा कोई भी guideline को follow करना जरूरी नहीं है। 

एक ही तरह के link का प्रयोग न करके अलग-अलग तरह के links का प्रयोग करें। 

आशा है ये post आपको अच्छा लगा होगा और आपके लिए फायदेमंद होगा। अगर आपको post अच्छा लगा हो एक कमेंट जरूर करे और दोस्तों को share करे ताकि वो भी इससे फाइदा उठा सके।


No comments:

Post a Comment