HindiBhashi: हिन्दी में SEO और Digital Marketing की पूरी जानकारी

Blogging, SEO, Digital Marketing aur Social Media se related sampurn jankari hindi me jise sikhkar aap Online Work from home se Paise kamaa sakte hai

Krishna

Saturday, March 7, 2020

Backlink क्या है और ये SEO के लिए क्यों जरूरी है

Post link together

 

Backlinks क्या है और SEO में इसका क्या महत्व है

Backlinks जैसा हम नाम से देख रहे है, ये दो शब्द Back और लिंक से बना है। जैसा की आप जानते है Back का अर्थ होता है पीछा और link का जोड़। इससे आप समझ सकते है की Backlink का अर्थ हुआ आपके ब्लॉग या पोस्ट का किसी दूसरे ब्लॉग या पोस्ट का आपस में गठजोड़। 

SEO Friendly Blog Post kaise Likhe

Anchor Text kaise SEO me sahayata karta hai

Google या कोई अन्य search engine page ranking में इसको खास महत्व देता है। जिस ब्लॉग का जितना ज्यादा अच्छी quality का Backlinks होगा उसको उतना ज्यादा page ranking मिलेगा। 

What are backlinks

Types of Backlinks

समान्यतः backlink दो तरह के होते है :

  • Internal Backlink
  • External Backlink

Internal Backlinks क्या होता है?

जब हम कोई पोस्ट लिखते है तो साथ - साथ उस पोस्ट को जरूरत के हिसाब से अपने ब्लॉग पर दूसरे पोस्ट के साथ लिंक करते है। इसका फाइदा ये होता है की हमें एक ब्लॉग से दूसरे ब्लॉग पर जाने में आसानी हो जाती है। दुसरा फायदा ये है की जब कोई visitor हमारे एक पोस्ट को पढ़ता है, उसी के साथ उसको उसके जरूरत का दूसरा पोस्ट मिल जाता है, जिसको पढ़ने के लिए वो दुबारा हमारे ब्लॉग पर आता है। Internal backlink डालते समय ये ध्यान रखना जरूरी हो जाता है की backlinks जहाँ जिसकी जरूरत हो वही डाले। मान लीजिये के latest mobile के बारे में पोस्ट को पढ़ रहा है और उसके साथ आपने Dog Food का लिंक दाल दिया है, ऐसी परिस्थिति में फायदा के जगह नुकसान हो जाएगा। 
Internal link machine
Backlinks का प्रयोग हम करते है navigation के लिए, लेकिन search engine में भी इसका खास महत्व है। Search Engine के नजर में आपके ब्लॉग में जितना ज्यादा backlinks है उतना ज्यादा contents है, यही कारण है की page रंकिंग में इसका महत्व बच जाता है। 

External Backlinks क्या होता है?

external link example
Internal Backlinks तो आपने समझ लिया, अब सवाल उठता है External Backlinks क्या होता है। जैसा की आप समझते है exterrnal का अर्थ होता है बाहरी, यानि आपके ब्लॉग का दूसरे ब्लॉग, website, social media या अन्य कोई source के साथ लिंक होना। 

SEO में इसका अहम योगदान है। यह एक तरह से दूसरे के द्वारा आपके लिए वोटिंग का काम करता है। मान लीजिये मैंने अपने किसी एक पोस्ट का लिंक किसी दूसरे के ब्लॉग में किसी सही जगह पर दाल दिया, फिर क्या होगा? जब कोई reader दूसरे के ब्लॉग पर जाएगा, पोस्ट पढ़ते समय उसको मेरे पोस्ट का link दिखेगा। हो सकता है वो उस link के द्वारा मेरे ब्लॉग पर पहुँच जाय। ये ऐसे ही हुआ जैसे दूसरे के दुकान का ग्राहक आपके दुकान में आ जाना। इस तरह हम समझ सकते है की जितना ज्यादा Backlinks उतना ज्यादा page ranking।

No. of backlink example 

 Backlinks एक तरह से search engine के algorithm में फ़ाउंडेशन का काम करता है। 


PageRank citation example

हालांकि google algorithm में हजारो परिवर्तन हो चुके है फिर भी backlinks का अपना एक अलग महत्व बना हुआ है। 

SSL Wesite Security क्या है और क्यों जरूरी है

Keyword Density क्या है

किस तरह के Backlinks का अधिक महत्व है 

Backlinks का महत्व देखकर ऐसा करना भी उचित नहीं है कि हम हर तरह के website से बिना सोचे-समझे link करते चले जाये। backlinks का भी अपना एक स्टैंडर्ड होता है। इसके लिए जरूरी है कि हम backlinks ऐसे website से पाये जिसका Domain Authority अच्छा हो। घटिया और नए website का backlink डालने पर फायदा के बदले नुकसान होने कि संभावना बढ़ जाती हे। 

एक अच्छे quality का backlinks 1000 घटिया quality के backlinks से अच्छा है।

Backlinks की क्या विशेषताएँ होनी चाहिए 

एक ऐसा वैबसाइट जिसका Domain Authority अच्छा हो अगर अपने वैबसाइट पर आपके पोस्ट का लिंक डालता है तो एक तरह से वो DA आपसे share कर रहा है। कोई भी सरकारी संस्थान, university, बड़ी-बड़ी पुरानी कंपनी इसके अच्छे उदाहरण है। 

मान लीजिये आप education से संबन्धित कोई blog चलाते है, आपको एक backlink JNU या DU से मिल जाए। दो बातें होगी, एक तो search engine की नजर में आपके ब्लॉग का credit बढ़ जाएगा, दूसरा आपके ब्लॉग पर traffic बढ़ जाएगा। निश्चित रूप से इस तरह के backlink पाना कठिन काम है।

दोनों websites मिलता-जुलता होना चाहिए

जब दो websites backlinks से एक - दूसरे से जुडते है तो search engine इस बात को देखता है कि दोनों का विषय मिलता-जुलता है कि नहीं। 

मान लीजिये आपने jobs पर एक पोस्ट publish किया और उसका लिंक किसी car racing से कर दिया, कोई फायदा नहीं होगा। 


Contextual backlinks example

Backlinks के Term 

Link Juice 

Link Juice एक प्रकार का Dofollow backlink ही है। जब कोई website या blog हमारे किसी post को link देता है, इसका मतलब वो उसके वैबसाइट से traffic हमारे website पर आयेगा, यानि वो हमें link juice दे रहा है। ये link juice हमारे post का credit बढ़ाता है जिससे page ranking में सहायता मिलती है। 

Low-Quality Backlinks 

Low-Quality Backlink उसे कहते है जो लिंक हमे किसी घटिया क्वालिटी के website जैसे - Porn Website, Spam sites से मिलता है। इसलिए Backlink लेते वक्त इस बात का खास ध्यान रखा जाता है की link जिस sites से ले रहे है उसकी DA अच्छी हो। 

High-Quality Backlink 

जैसा हमने ऊपर चर्चा किया है, किसी बढ़ी कंपनी की link, सरकारी संस्थान, शिक्षण संस्थान एवं मिलते - जुलते sites से मिलने वाला link को high quality लिंक माना जाता है और ऐसे links को search engine ज्यादा तवज्जो देती है।

 

External Backlinks के प्रकार

 "Dofollow" Backlinks 

Dofollow लिंक को search engine page ranking के लिए count करता है। जब कोई दूसरे website का owner आपके website का लिंक HTML code के माध्यम से अपने website पर डालता है या आप जो अपने website का url link किसी भी website पर डालते है वे सभी by default वही dofollow backlink है। उदाहरण के लिए :

<a href=“https://hindibhashi.com/”>Hindibhashi Backlinks</a>

Nofollow Backlinks

Nofollow backlinks एक website से दूसरे website को link जूस पास नहीं करता, यही कारण है कि page ranking में इसका कोई महत्व नहीं है। 

कहते है कभी - कभी बेवकूफ इंसान भी अच्छा काम कर जाता है, यही हाल इसका भी है। मान लीजिये आपके वैबसाइट पर हजारों कि संख्या में dofollow backlinks है, इस परिस्थिति में search engine आपके सारे dofollow backlinks को मान फर्जी मान लेता है और वैबसाइट को page ranking से बाहर कर देता है। 

इस परिस्थिति में ये nofollow backlinks बड़े काम का साबित है। आपके वैबसाइट को natural look देते हुए page ranking से बाहर होने के खतरे से बचाता है।


"Dofollow" और "Nofollow" Link कैसे पता करे

आप कैसे पता करेंगे की कोई link dofollow है या nofollow 
इसको जानना ज्यादा कठिन काम नहीं है। बहुतआसान काम है। नीचे दिये उदाहरण से खुद कर सकते है। 

एक तरीका ये है कि लिंक पर right click करे, उसके बाद "inspect" पर क्लिक करे, एक box open होगा जिसमें highlighted html code दिखेगा। अब आपको देखना है कि rel="nofollow" लिखा है या नहीं। 


dofollow-backlinks example

ऊपर जैसा आप देख रहे है link dofollow है क्योंकि इसमें rel="nofollow" नहीं है। 

दूसरा तरीका है की page पर right क्लिक करे, फिर "View page source" select करे। इसके बाद html command के साथ एक window खुलेगा, ctrl+F type करे फिर URL डाले। 


dofollow-backlinks example

  "Dofollow" links कैसे पाएँ 

इतना सब लिखने-पढ़ने के बाद ये तो समझ गए होंगे की Backlink और Dofollow लिंक क्या होता है और इसके क्या है। अब सवाल उठता है इसको कैसे पाया जा सकता है। 

बहुत सारे ऐसे sites है जो dofollow लिंक provide करते है लेकिन उसके लिए आपको थोड़ा काम करना पड़ेगा। 

Guest Posting: किसी दूसरे फ़ेमस ब्लॉग के लिए जिसका DA अच्छा है, पोस्ट लिखना। इससे आपको ये फ़ायदा मिलता है की आपको उस ब्लॉग से बदले में dofollow लिंक मिल जाएगा। इससे आपको ये फ़ायदा होगा की धीरे-धीरे उस ब्लॉग के visitor आपके ब्लॉग पर आना शुरू कर देगा। 

Quality कंटैंट लिखें : आपके पोस्ट का contents जितना अच्छा होगा, स्वाभाविक रूप से reader उतने ज्यादा बढ़ेंगे, क्योंकि कोई reader तभी आपके ब्लॉग पर दुबारा आएगा जब आपका content सुंदर और प्रभावी होगा। ऐसा होने पर वो खुद भी बार-बार आएगा और दूसरों के साथ भी share करेगा। समय के साथ जैसे-जैसे आपके ब्लॉग की ख्याति बढ़ेगी दूसरे website के owner खुद व खुद आपके ब्लॉग को dofollow लिंक देना शुरू कर देंगे। 

ज्यादा से ज्यादा प्रचार करें : Social Media और Local Media पर ज्यादा से ज्यादा प्रचार करे। जैसे- जैसे लोगों और अन्य संस्था का विश्वास आपके ऊपर बढ़ेगा, आपको dofollow link मिलना शुरू हो जाएगा।

Copy-Paste करे: अपने देश में ज्यादा से ज्यादा काम जुगार से चलता है, वो भी फ्री में मिल जाय तो सोने पे सुहागा। अपने competitor के website को सही से analize कर नकल कर ले। 

dofollow backlinks example  
ऊपर दिये गए status में green F का मतलब ये dofollow लिंक है । 

लक्ष्य के साथ मेहनत करें, सफलता जरूर मिलेगी।   

निष्कर्ष 

Backlinks आपके website पर SEO का एक अहम हिस्सा है। आपके website/blog पर जितना ज्यादा और जितना अच्छा dofollow backlinks रहेगा, post कि page ranking उतनी अच्छी होगी। सबकुछ अपने हाथ में नहीं होती, कुछ चीजें हासिल करने के लिए वक्त का इंतजार करना होता है। आपके हाथ में होता है सिर्फ ईमानदारी के साथ मेहनत। 

मैंने भी इस पोस्ट पे अपने हिसाब से काफी मेहनत किया है फिर भी कुछ त्रुटि रहना स्वाभाविक है। अगर आपको ऐसी कोई त्रुटि दिखे हमें जरूर बताए ताकि आगे हम उसे और बेहतर कर सके। अगर आपको post अच्छा लगा हो comment करे, share करे, यहीं हमारे मेहनत कि कीमत है।  



4 comments:

  1. आप बहुत सरल लिखते है.. फिर भी थोड़ा doubt है कि क्या हम गूगल के किसी भी वेबसाइट का लिंक useकर सकते हैं backlicking में?

    ReplyDelete
  2. Google का link use कर सकते है, साथ मे किसी और का भी link use कर सकते है वशर्ते spam नहीं होना चाहिए।

    ReplyDelete
  3. Agar koi nayi website hai to usko backlink milna muskil hota hai. Aisi condition me kya karna chahiye?

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत सारे website guest post accepts करते है। अपने niche से related website पर guest post लिखें। Guest post उसी साइट पर लिखें जिसका Domain Authority 20 से ज्यादा हो। ब्लॉग directory में अपने पोस्ट को सबमिट करे, ज्यादा से ज्यादा अपने पोस्ट को social मीडिया पर share कए। सबसे जरूरी बात कोई हरबड़ाहट न दिखाते हुए अपने आप को अच्छे कंटैंट लिखने पर फोकस करें। एकबार जब आपका ब्रांड बन जाएगा backlink भी मिलेंगे।

      Delete