HindiBhashi: हिन्दी में SEO और Digital Marketing की पूरी जानकारी

Blogging, SEO, Digital Marketing aur Social Media se related sampurn jankari hindi me jise sikhkar aap Online Work from home se Paise kamaa sakte hai

Krishna

Sunday, July 26, 2020

Blogger me Custom Theme Kaise Add Kare

Blogger में Custom Theme कैसे add/change करें (How to add custom theme in Blogger Blog)?


blogger me custom theme kaise change kare.


बहुत सारे नये लोग जो अभी-अभी ब्लॉग के क्षेत्र में आये है या कुछ दिन हुआ है, उनके मन में एक प्रश्न आता है ब्लॉग का theme कैसे change करें? क्या अपने blogger blog में custom theme add कर सकते हैं? हमें अपने ब्लॉग का theme change करना चाहिए? इत्यादि। 

आज हम इसी पर चर्चा करेंगे की हमें अपने blogger blog का theme कैसे change करना चाहिये, theme क्यों change करना चाहिये, थीम कैसी होनी चाहिये? 

जब भी कोई ब्यक्ति ब्लॉगिंग के बारे में सोचता है तो सौ में से नब्बे लोगों का निर्णय होता है कि शुरुआत फ्री ब्लॉग यानि Blogger Blogspot से किया जाय। 

निर्णय सही भी है क्योंकि Blogger Blogspot एक ऐसा प्लैटफ़ार्म है जहां नयाँ ब्लॉग शुरू करने के लिए एक रुपया खर्च नहीं होता। एक नये ब्लॉगर की जितनी भी जरूरतें हैं यहाँ वो सबकुछ फ्री मिलता है। 

चुकी गूगल ब्लॉगर पर सबकुछ फ्री देता है इसलिए यहाँ बाहर से कुछ add करने की जरूरत नहीं पड़ती और न ही गूगल इस बात की इजाजत देता है। 
लेकिन  theme aur domain name दो चीजें ऐसी है जिसे हम बाहर से ब्लॉगर ब्लॉग पर add  कर सकते है। अपने एक पोस्ट में मैंने बतला रखा है Blogger blog में custom domain कैसे add करें। 

आज हम इस पोस्ट में चर्चा करेंगे blogger ब्लॉग में custom theme कैसे add/change करें? 

Blogger Blog का Theme क्यों change करे (Why add custom theme)? 


जैसा कि मैंने बताया Blogger blog पर सबकुछ फ्री मिलता है, लेकिन ज्यादा फ्री का लालच भी अच्छा नहीं होता। अगर ब्लॉगिंग केवल शौकिया तौर पर करना चाहते है जिसे इंग्लिश में mom blogger कहते है (वो blog जो केवल आपकी मम्मी पढे) तब तो ठीक है। 

अगर चाहते है कि professional ब्लॉगर बनना है फिर थोड़ा broad minded होने कि जरूरत होती है। 

Blogger blog में थीम change करने के लिए चाहे तो आप अपने पसंद के हिसाब से एक custom thime खरीद भी सकते है या थोड़ा प्रयास करके फ्री  थीम download कर add कर सकते है। 

Theme क्यों change करना चाहिये?

एक कहावत आपने जरूर सुनी होगी "First impression is the last impression". 

किसी भी website या blog का थीम ऐसे ही है जैसे किसी product का packaging या किसी showroom का interior decoration जहां ग्राहक का सबसे पहले नजर पड़ता है। 

यही हाल कुछ website या ब्लॉग का भी है। जब भी कोई visitor आपके साइट पर जाता है तो सबसे पहले उसकी नजर साइट के presentation पर पड़ती है। 

Blogger ब्लॉग के साथ जो थीम होता है वो बहुत ही basic होता है। इसमें feature न के बराबर होते है। 

वहीं custom theme में आज के जरूरत के हिसाब से वो सारी सुविधाएं मिलती है जिसकी हमें जरूरत होती है। 


Theme कैसी होनी चाहिए (What features should be in custom theme)? 



  • SEO Friendly Theme 

  • Adsense Friendly 


  • Social Media Button 
  • Attractive Look 
  • Error 404 
  • Feature Post 
  • Fast Loading
  • Mobile Friendly 

SEO Friendly Theme 


किसी भी theme का SEO friendly होना बहुत जरूरी है। Theme का SEO friendly होने के अर्थ है अपने ब्लॉग का मनचाहा seo कर सके ताकि ब्लॉग पर ज्यादा से ज्यादा traffic आ सके। 

आज के competition के दौर में जहां हरेक blogger अपने ब्लॉग को top पर rank करवाने के लिए SEO के रूप में न जाने क्या-क्या तरीके अपनाते है, वैसे में अगर theme seo friendly नहीं है फिर कहाँ टिक पाएंगे। 

Adsense Friendly Theme 


हर ब्लॉगर का ब्लॉगिंग करने का आखिरी लक्ष्य होता है ब्लॉग से पैसा कमाना। किसी भी blog में income का मुख्य जरिया होता है Adsense और affiliate marketing. 

Adsense और affiliate marketing से तभी कमाई किया जा सकता है जब theme add friendly हो यानि theme में add पोस्ट करने के लिए space उपलब्ध हो। 

Adsense approval के लिए गूगल का page के बारे में eligibility requirement जरूर जान लें। 

Social Media Button 

आज के समय में अगर किसी theme में social media button नहीं है तो वो बेकार है। 

जहां अपने ब्लॉग पर organic traffic के लिए हमें महीनो इंतजार करना पड़ता है, वही social media traffic का एक ऐसा माध्यम है जिससे हमें तुरत traffic मिलता है। Organic traffic के अलावा हमें किस-किस माध्यम से तुरत ट्रेफिक मिलता है उसके लिए इस लिंक पर जाकर जान सकते है। 6 traffic source without seo 

Social मीडिया से traffic तभी मिलेगा जब थीम में पोस्ट को share करने के लिए social media बटन हो। 


 Attractive Look 

जैसा की मैंने ऊपर बताया किसी भी ब्लॉग या website का attractive theme first impression होता है। 

अगर ब्लॉग का थीम attractive नहीं है तो visitors ऐसे ब्लॉग पर ज्यादा देर नहीं टिकते न ही दुबारा वापिस आते है। 

Error 404 page 

ये किसी भी theme का technical पहलू है। ये बहुत ही महत्वपूर्ण fuction है। इसकी जरूरत तब पड़ती है जब हम अपने ब्लॉग से किसी पोस्ट को delete कर देते है। 

मान लीजिये हमें किसी पोस्ट को डिलीट तो कर दिया लेकिन link अभी भी बना हुआ है। ऐसे में क्या होगा?

जब कोई visitor उस link के माध्यम से वैबसाइट पर जाएगा और उसे वो पोस्ट नहीं मिलेगा। ऐसे में क्या होगा? visitors frustrate होगा और दुबारा ऐसे साइट पर जाना पसंद नहीं करेगा। 

Error 404 visitors को बताता है page उपलब्ध नहीं है और हमारे द्वारा सेट किए गए दूसरे page पर redears को redirect करता है। 

Feature Post 

आमतौर ये सुविधा हरेक थीम में नहीं पाया जाता। Google ने अपने users को ये सुविधा नया में ही दिया है। Feature post वो post होता है जो हमें लगता है कि ये हमारे ब्लॉग का first impression सावित होगा। 

Feature post को हमेसा front में रखा जाता है ताकि visitors कि पहली नजर इस पर पड़ सके।

Fast Loading  

किसी भी blog या website के theme का loading speed बहुत मायने रखता है। एक ऐसा theme जो load होने में ज्यादा समय लेता है, इसका असर सीधे तौर पर traffic पर पड़ता है। 

किसी के पास इतना समय नहीं कि वो किसी वैबसाइट को load होने के लिए ज्यादा देर इंतजार करें। किसी theme का slow speed होना ये Google ranking को भी प्रभावित करता है। Google भी ऐसे साइट को पसंद नहीं करता। 

आपके website का loading speed चेक करने के लिए Goolge के check your website's loading speed पर जाकर चेक कर सकते है। 

Hubspot के reposrt के अनुसार अगर किसी website की loading time एक second ज्यादा है तो इस के कारण 11% traffic कम हो जाता है। 

Google के report के अनुसार अगर load time 3 seconds ज्यादा है तो इसका असर 53% traffic पर पड़ता है।

2018 Google Speed Update के अनुसार किसी भी वैबसाइट के loading speed का असर उसके SERP (Search Engine Rank Page) पड़ता है।  


Mobile Friendly Theme 


आज के समय में किसी भी थीम का mobile friendly होना बहुत जरूरी है। आजकल बहुत कम लोग computer या laptop पर पोस्ट पढ़ते है। 

किसी के पास इतना समय नहीं है। लोग चलते - चलते या काम के दौरान जब कभी बीच-बीच में समय मिल जाता है पोस्ट पढ़ लेते है। 

ऐसे में अगर कोई theme mobile friendly नहीं है इसका मतलब है blog सही से खुलेगा नहीं जिससे पोस्ट पढ़ा जा सके। visitor सदा के लिए उस ब्लॉग को छोड़ देना निश्चित है। 

आपके website का theme mobile friendly है या नहीं इसको जाँचने का बहुत ही आसान तरीका है। Google के Mobile Friendly Test page पर जाकर अपने website का url डाले, result मिल जाएगा। 

Custom Theme कैसे पाएँ ? (How to find custom theme for blogger)?

अब जबकि हमने ये जान लिया blogger में custom का क्या महत्व है, फिर बात आती है custom theme download कहाँ से download करे?

इस काम में बहुत ही सावधानी की जरूरत होती है क्योंकि बहुत सारे ऐसे भी वैबसाइट है जो theme के malware भी डाल देते है। एकबार ये malware हमारे कम्प्युटर में आ गए फिर सारा डाटा हमारे कम्प्युटर से चुरा लेते है। 

इसके अलावे भी कई प्रकार के नुकसानदेह हमारे लिए सावित होता है। इसलिए इस बात की जरूरत होती है कि theme को किसी authentic वैबसाइट से download किया जाय। 

बहुत सारे websites है जहां से theme download किया जा सकता है। btemplate colorrib  और gooyaabitemplates जैसे साइट से free में अपने पसंद का theme download कर सकते है। 

Blogger का theme कैसे बदलें (How to change/ update blogger theme)?

अब तक हमने जाना Blogger पर custom theme add करना क्यूँ जरूरी है और custom theme कहाँ से download करें। 

अब जो सबसे जरूरी है बात है वो है custom theme को अपने ब्लॉग या website पर uipload कैसे करें?

यहाँ पर अपलोड करने से पहले एक बात समझना जरूरी है कि जो भी theme आपने add करने के लिए download किया है उसे एक folder में save कर ले। 

जब हम theme download करते है तो वो zeap या raar formate में होता है। उसे extract कर ले। Blogger केवल .xml extension स्वीकार करता है। 
Blogger layout अब बदल चुका है। इसके layout के साथ function में भी कई तरह के बदलाव आ चुका है। 

यहाँ हम blogger के दोनों interface में जानेंगे की theme को कैसे change किया जाता है। 

New Blogger Interface 

1. सबसे पहले blogger पर जाकर sign in करे। 

2. Dashboard में theme पर click करें। 

3. page के ऊपर 3 dot दिखाई देंगे, उसपर क्लिक करे। 

custom theme कैसे change करें

4. कुछ इस तरह का option आएगा। 


blogger में custom theme कैसे change करें


सबसे पहले पुराने थीम का backup ले लें। 

अब Restore पर क्लिक करे। computer से upload का option आयेगा, उसपर क्लिक करे। 

अपलोड होने के बाद थीम को save कर लें। 

यहाँ एक दूसरा option HTML code को copy paste करना भी है। अगर आप बिलकुल नए है तो मैं इसकी सलाह नहीं दूंगा। 

Blogger के पुराने interface पर theme कैसे change करें? 

Blogger के पुराने inteface पर theme change करना और भी आसान है, यही कारण है की नए ब्लॉगर जब-तब अपने ब्लॉग का थीम बदलते रहते है। 

1. सबसे पहले blogger पर जाकर login करे। 

2. Dashboard में theme पर क्लिक करे। 

3. Right hand के ऊपर Backup/Restore पर क्लिक करे। 

4. कुछ इस तरह का window खुलेगा। 


blogger में custom domain कैसे change करें

5. Upload क्लिक कर अपने computer से theme upload करे और save करे। 

आपका थीम सफलता पूर्वक upload हो गया है। 

अब जल्द से जल्द अपने ब्लॉग का layout ठीक कर लें। ताकि visitor पर इसका impact न पड़े। 


Conclusion 

जैसा की हमने ऊपर चर्चा की blogger का थीम शौकिया ब्लॉगर के लिए तो ठीक है लेकिन professional blogger को किसी भी तरह ये शूट नहीं करता। 

अगर ब्लॉगिंग का उद्देश्य आगे जाकर पैसा कमाना है तो समय के हिसाब से चलना जरूरी हो जाता है ताकि competition में बने रहे। 

अपने ब्लॉगर ब्लॉग का थीम change करने से पहले से पहले ये जानना जरूरी है कि Blogger theme कैसे change करे, कौन सी थीम select करे, थीम की quality क्या होनी चाहिए, Theme change करने के क्या-क्या फायदे है?

मुझे आशा है ये पोस्ट आपको पसंद आया होगा और आपको इससे लाभ मिलेगा। 

कोई भी प्रश्न हो तो कमेंट में लिखें। 

नीचे के social media बटन से अपने दोस्तों को share करे ताकि दूसरे भी लाभ उठा सके। 

1 comment:

  1. very good content and well explained as well as it is very informative..
    you may also visit my blog by clicking below..


    who will cry when you die

    ReplyDelete